सच में कुत्तों से ज्यादा वफादार कोई नहीं, चोट लगने पर भी इस कुत्ते ने अपनी वफादारी नहीं छोड़ी!

“आपका दोस्त, आपका साथी और आपका रक्षक आपका कुत्ता है जिसके लिए आप ही उसकी जिन्दगी, उसका प्यार और एक नेतृत्वकर्ता के सामान हैं। वह मरते दम तक आपका वफादार साथी और सच्चा दोस्त रहेगा।” यह वाक्यांश स्पष्ट रूप से आपको नई दिल्ली के इस दत्तक कुत्ते की कहानी दर्शाएगा, जिसने कुछ पुरुषों के द्वारा चाकुओं की मार सहन करने के बाद भी अपने मालिक की जान बचाई।

Credit: India । Representational Image

यह घटना मंगोलपुरी दिल्ली में 12 अक्टूबर को हुई थी, जब MCD के एक कर्मचारी राकेश सिंह अपने दत्तक कुत्ते टायसन (tyson) को भोजन खिलाने के लिए बाहर आए थे। पुलिस की रिपोर्ट के अनुसार, आरोपी ने कुत्ते के मालिक के साथ बिना किसी वजह के बहस शुरू कर दी थी।संक्षिप्त तर्क-वितर्क के बाद आधे लोग वहां से चले गए लेकिन एक हमलावर पुरुष ने अपने चाकू से राकेश सिंह पर जान लेवा हमला कर उन्हें घायल करने की कोशिश की। टायसन अपने मालिक की रक्षा के लिए दिवार बनकर खड़ा रहा।

Credit: Hindustan times । Representational Image

राकेश के परिवार ने Hindustan Times को बताया कि टायसन ने सही समय पर इसे जानलेवा होने से बचाया है। टायसन को कान पर, पिछली टांग पर और पेट में घाव लगे हैं।

Credit: DNA । Representational Image

राकेश सिंह के बेटे अजय ने कहा, “जैसे ही हमने टायसन के भौंकने की आवाज़ सुनी, हमें कुछ गड़बड़ लगी और तुरंत ही घर से बाहर आ गए। तब तक परिस्तिथि काफी गंभीर हो चुकी थी।” अपराधियों के खिलाफ हत्या के प्रयास का केस दर्ज किया गया है और आगे की जांच अभी चल रही है।

RELATED