चाय बनाने वाले इस आम आदमी ने अपनी पत्नी को 18 जगहों पर हनीमून की सैर करायी

स्विट्ज़रलैंड, ईजिप्ट, दक्षिण अफ्रीका इत्यादि। यह कोई फ़िल्मी जगहों की सूची नहीं बल्कि ऐसी कुछ जगहों के नाम है जहाँ 65 वर्षिय पति-पत्नी ने सैर की! आश्चर्य की बात तो यह है कि इन जगहों पर जाने का खर्चा उन्होंने अपनी चाय की दुकान की कमाई से इकठ्ठा किया था!

Credit: The News Minute

65 वर्षिय विजयन और उनकी पत्नी मोहना कोची शहर के निवासी हैं. वह अब तक 18 देशों की यात्रा कर चुके हैं और आगे और भी देशों में यात्रा करने की इच्छा रखते हैं. विजयन को पहले से ही यात्रा करने का और नई नई जगहों पर घूमने का शौक था. वह केरल में अपने पिता के साथ अलग अलग मंदिरों में भी जाते थे. उनको एहसास हुआ कि यात्रा में किया गया खर्च कभी व्यर्थ नहीं जाता और यात्राओं की स्मृतिओं को अपने दिल में हमेशा जीवित रखा।

Credit: The News Minute

उनकी यात्रा की योजनाएं रुक सी गईं जब उनके पिता का स्वर्गवास हो गया और युवावस्था में विजयन पर पूरे परिवार की ज़िम्मेदारी आ गई।  1988 में विजयन ने अपनी यात्रा की फिर से शुरुआत की, जब वह अपने मालिक के पास बावर्ची की नौकरी कर रहे थे तब वह तीर्थयात्रा के लिए अपने मालिक के साथ हिमालय की यात्रा पर गए।

Credit: The News Minute

उनका सफ़र करने का सपना फिर से जीवित हो गया क्योंकि इस बार उनका साथ देने के लिए उनकी पत्नी मोहना भी थी. एक गरीब परिवार में पैदा होने के बावजूद विजयन और मोहना ने हमेशा बड़े सपने देखे और उन्हें पूरा करने की कोशिश जारी रखी।

इस दंपति ने कई राज्यों, शहरों, और देशों की यात्रा की है. 40 से अधिक वर्षों से विवाहित जीवन में बंधे हुए इस जोड़े का जीवन किसी फिल्म से कम नहीं है. विजयन के लिए मोहना एक उत्तम साथी है, “मैं उसके बिना यात्रा नहीं कर सकता, मैं केवल तब ही खुश रहता हूँ जब वह मेरे साथ होती हैं।” विजयन ने  The News Minute से कहा।

Credit: The News Minute

आर्थिक परिस्थिति समस्याएं पैदा करती है लेकिन इस जोड़े ने इस समस्या का हल कुछ अलग तरिके से निकाला है। वे खर्चों के लिए लोन पर निर्भर रहते हैं और अगले कुछ वर्षों में उनका भुगतान कर देते हैं। विजयन अपनी टिकटों के खर्च के लिए रोज़ ₹300 बचाते हैं। कम खर्च इस जोड़े के लिए उत्तम तरीके से काम करता है!

Credit: The News Minute

विजयन और मोहना ने बड़े सपने देखने की हिम्मत की और आज अपने आत्मविश्वास से वह जो चाहते है वह हासिल करने की क्षमता रखते हैं। उनकी कहानी ने हम सबको प्रेरणा दी है। ज़्यादातर, दुनिया की सैर केवल अमीरों के लिए संभव लगती है, लेकिन इस जोड़े ने इस मिथक को तोड़ दिया है।

RELATED